आशूरा के साथ नवें मुहर्रम का रोज़ा रखना मुसतहब है

मुफ्ती : मुहम्मद सालेह अल-मुनज्जिद

स्रोत:

साइट इस्लाम प्रश्न एंव उत्तर www.islam-qa.com

विवरण

मैं इस वर्ष आशूरा (दसवें) मुहर्रम का रोज़ा रखना चाहता हूँ। मुझे कुछ लोगों ने बताया है कि सुन्नत का तरीक़ा यह है कि मैं आशूरा के साथ उसके पहले वाले दिन (नवें मुहर्रम) का भी रोज़ा रखूँ। तो क्या यह बात वर्णित है कि नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने इसका मार्गदर्शन किया है ?

सच्चा धर्म
2