विवरण

इस लेख में शहादतैनः ला-इलाहा इल्लल्लाह और मुहम्मदुर्रसूलुल्लाह की शहादत का वास्तविक अर्थ तथा उन शर्तों का उल्लेख किया गया है जिनका शहादतैन के पढ़ने वाले के अन्दर पाया जाना अनिवार्य है, ताकि यह शहादत उसके लिए आखिरत में लाभदायक सिद्ध हो।

फ़ीडबैक