विवरण

आदरणीय शैख मुहम्मद सालेह अल-मुनज्जिद से प्रश्न किया गया किः जब मुसलमान नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम का जन्म दिवस मनाते हैं, तो उनके अल्लाह के ईश्दूत ईसा अलैहिस्सलाम का जन्म दिवस (क्रिसमस) मनाने में क्या नुक़सान है? क्या वह अल्लाह सर्वशक्तिमान की ओर से अवतरित ईश्दूत नहीं थे? मैं ने यह बात किसी आदमी से सुनी है, लेकिन मुझे पता है कि क्रिसमस और उसको मनाना हराम (वर्जित व निषिद्ध) है, परंतु मैं पिछली बातों का उत्तर जानना चाहता हूँ? अल्लाह तआला आपको अच्छा बदला प्रदान करे।

फ़ीडबैक