बिना कारण रमज़ान में रोज़ा तोड़ने का हुक्म

विवरण

जिस आदमी ने बिना किसी कारण रमज़ान के रोज़े की अनिवार्यता से अनवगत होने के सबब कुछ दिनों का रोज़ा नहीं रखा तो क्या उस पर कज़ा वाजिब है?

फ़ीडबैक