सफ़र के महीने में शादी या खतना आदि न करना एक प्रकार का अपशकुन है

वैज्ञानिक श्रेणियाँ:

विवरण

हमने सुना है कि ऐसी मान्यताएं पाई जाती हैं जिसका आशय यह है कि सफर के महीने में शादी, खतना और इसके समान अन्य चीज़ें करना जायज़ नहीं है। कृपया हमें इस बारे में इस्लामी क़ानून के अनुसार अवगत कराएं। अल्लाह आप की रक्षा करे।

फ़ीडबैक