वैज्ञानिक श्रेणियाँ

  • हिन्दी

    PDF

    प्रस्तुत ब्रोचर हज्ज के कार्यों, उसकी विशेषता, उसके स्तंभों, उसकी अनिवार्यता की शर्तों और उसके वाजिबात (कर्तव्यों) की एक रूपरेखा और व्यापक सारांश है, जिसे हज्ज के दौरान हाजियों में वितरित करना उपयुक्त होगा।

  • हिन्दी

    PDF

    यह पुस्तिका, हज्ज व उम्रा और मस्जिदे नबवी की ज़ियारत के लिए संक्षिप्त गाइड है, जिसमें सार रूप से हज्ज व उम्रा और मस्जिदे नबवी की ज़ियारत से संबंधित महत्वपूर्ण और आवश्यक जानकारी प्रस्तुत की गई है। तथा हज्ज व उम्रा और ज़ियारत के दौरान होने वाली त्रुटियों पर चेतावनी दी गई है। साथ ही साथ इसमें हाजियों के लिए अहम निर्देश और नसीहतें हैं।

  • हिन्दी

    PDF

    हज्ज और उम्रा का तरीक़ाः इस पुस्तक में नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की सहीह सुन्नत के अनुसार हज्ज और उम्रा का तरीक़ा और उनसे संबंधित अन्य अह्काम उल्लिखित किए गए हैं, तथा साथ ही साथ कुछ हाजियों से होने वाली ग़लतियों पर चेतावनी भी कराई गई है। हज्ज के प्रत्येक दिन के कार्यक्रम को अलग-अलग बयान करते हुए उन त्रुटियों की ओर भी संकेत किया गया है जिस के अधिकांश लोग शिकार हो जाते हैं।

  • हिन्दी

    MP3

    हज्ज का संक्षिप्त विवरण : हज्ज एक महान वैश्विक अवसर है, जिसमें दुनिया के कोने-कोने से आकर मुसलमान अल्लाह के पवित्र घर मक्का मकर्रमा में एकत्रित होते हैं ; ताकि उस महान कर्तव्य को पूरा करें जो जीवन में केवल एक बार अनिवार्य है। प्रस्तुत व्याख्यान में हज्ज की अनिवार्यता, उसकी फज़ीलत, इस यात्रा के लिए हलाल धन की आपूर्ति, तथा इसे खालिस अल्लाह के लिए और उसके पैगंबर के बताए हुए तरीक़े के अनुसार अदा करने का उल्लेख है। इसी हज्ज के निर्धारित स्थानों (मीक़ात), एहराम बांधने के समय ऐच्छिक चीज़ों, एहराम की अवस्था में वर्जित और निषिद्ध चीज़ों और संक्षेप के साथ उम्रा और हज्ज की विधि का उल्लेख किया गया है।

  • हिन्दी

    PDF

    प्रस्तुत पुस्तिका में हाजियों के लिए हज्ज के छः दिनों के काम संक्षेप में उल्लेख किए गए हैं, जिसका आरंभ ज़ुल-हिज्जा की 8वीं तारीख से होता है और तश्रीक़ के अंतिम दिन 13वीं ज़ुल-हिज्जा को संपन्न हो जाता है।

  • हिन्दी

    MP4

    यह वीडियों हज्ज और उम्रा के लिए आने वाले अल्लाह के अतिथियों के लिये पर्याप्त मागदर्शन पर आधारित है। जिस में हज्ज के प्रकार, हज्ज या उम्रा का एहराम बांधने से पहले क्या करना चाहिए, एहराम बांधने का तरीक़ा, एहराम की हालत में निषिद्ध और वर्जित चीज़ें, उम्रा का तरीक़ा और उस की गततियों पर चेतावनी, हज्ज के कार्यों का विस्तृत वर्णन और उसके दौरान हाजियों से होने वाली गलतियों पर चेतावनी, तथा मिस्जदे नबवी की ज़ियारत के शरई तरीक़े का उल्लेख किया गया है।

  • हिन्दी

    MP4

    यह वीडियों हज्ज और उम्रा के लिए आने वाले अल्लाह के अतिथियों के लिये पर्याप्त मागदर्शन पर आधारित है। जिस में हज्ज के प्रकार, हज्ज या उम्रा का एहराम बांधने से पहले क्या करना चाहिए, एहराम बांधने का तरीक़ा, एहराम की हालत में निषिद्ध और वर्जित चीज़ें, उम्रा का तरीक़ा और उस की गततियों पर चेतावनी, हज्ज के कार्यों का विस्तृत वर्णन और उसके दौरान हाजियों से होने वाली गलतियों पर चेतावनी, तथा मिस्जदे नबवी की ज़ियारत के शरई तरीक़े का उल्लेख किया गया है।

  • हिन्दी

    PDF

    हज्ज में प्रतिनिधित्वः या किसी अन्य की ओर से हज्ज करना, उन मसाइल में से है जिस के बारे में बाहुल्य रूप से प्रश्न किया जाता है। यह एक शरई हुक्म है जिसके कुछ शुरूत हैं जिनकी पूर्ति करना, और कुछ नियम हैं जिनका पालन करना और कुछ आदाब –शिष्टाचार- हैं जिन से सुसज्जित होना आवश्यक है। इस लेख में उक्त तत्वों को स्पष्ट करने का प्रयास किया गया है।

फ़ीडबैक