वैज्ञानिक श्रेणियाँ

تعريب عناوين المواد

नमाज़

हर मुसलमान अल्लाह के धर्म में नमाज़ के स्थान, और अल्लाह की शरीअत में उसकी स्थिति से अवगत है। चुनाँचे वह इस्लाम का स्तंभ, कुफ्र और ईमान के बीच अंतर है, इस फाइल में नमाज़ के अहकामः उसका अर्थ, उसका समय, उसकी शर्तें, उसका तरीक़ा, उसके अरकान व वाजिबात और उसकी सुन्नतें, तथा सज्दा सह्व के प्रावधान का उल्लेख है।

आइटम्स की संख्या: 6

  • हिन्दी

    PDF

    नमाज़ के लिए जाने के आदाब

  • हिन्दी

    PDF

    नमाज़े नबवी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लमः प्रस्तुत पुस्तक नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की नमाज़ के तरीक़े के विषय में सर्वश्रेष्ठ किताबों में से एक है, जिसमें पवित्रता के अहकाम व मसायल, वुज़ू व गुस्ल का तरीक़ा, अज़ान व इक़ामत के नियम, नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की नमाज का संपूर्ण तरीक़ा, और सभी प्रकार के सुनन व नवाफिल नमाज़ों के अहकाम का उल्लेख किया गया है।

  • हिन्दी

    PDF

    दुश्मनों के क्या अधिकार हैं? अज़ान और नमाज़ के संबंध में अनभिगता के कारण बड़ी भ्रान्तियाँ पाई जाती हैं। यह बात उस समय और दुखद हो जाती है जब बिना सही जानकारी के इस्लाम की इस पवित्र एवं कल्याणकारी उपासना के संबंध में निसंकोच अनुचित टीका-टिप्पणी तक कर दी जाती है और उसके बारे में सही जानकारी प्राप्त करने का कष्ट तक नहीं किया जाता है। बहुत से लोग अज्ञानतावश यह समझते हैं कि अज़ान में ’अकबर बादशाह’ को पुकारा जाता है! कबीरदास जैसे संत तक ने भी अपनी अनभिज्ञता के कारण अज़ान के संबंध में कह डाला: कंकर पत्थर जोर के मस्जिद लिया बनाय । तापे मुल्ला बांग दे, क्या बहरा हुआ खुदाय ।। इस पुस्तिका में नमाज़ का महत्व और अज़ान तथा नमाज़ का मूल अर्थ बताया गया है। ताकि इनका सही स्वरूप जनसामान्य के सामने आ सके और इनके संबंध में भ्रान्तियाँ दूर हो सकें।

  • हिन्दी

    PDF

    ला इलाहा इल्लल्लाह व मुहम्मदुर्रसूलुल्लाह की गवाही के बाद जो सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य एक मुसलमान पर लागू होता है वह पाँच समय की नमाज़ों की पाबंदी है, नमाज़ - कुफ्र व शिर्क और मुसलमान व्यक्ति के बीच अंतर है, नमाज़ - इस्लाम और नास्तिकता के बीच फर्क़ है, नमाज़ ही के बारे में परलोक के दिन सबसे पहले प्रश्न किया जायेगा, नमाज़ ही नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के जीवन के अंतिम क्षणों की वसीयत है, इसके अतिरिक्त यह इसकी पाबंदी करनेवालों के लिए अपने अंदर बहुत सारी विशेषताएं, शुभसूचनाएं और बशारतें रखती है, जो एक मुसलमान को इस पर कार्यबद्ध रहने की प्रेरणा देती हैं। इस लेख में नमाज़ की विशेषताओं से संबंधित कुछ महान शुभसूचनायें, बशारतें प्रस्तुत की गई हैं।

  • हिन्दी

    PDF

    यह पुस्तक तहारत और नमाज़ के प्रावधानों और नियमों से संबंधित महत्वपूर्ण संछिप्त लेख है जिसमें लेखक ने पवित्रता और नमाज़ के नियमों को संछेप में वर्णन किया है, पवित्रता के अध्याय में पानी के प्रकार, अशुद्धता और गंदगी से पवित्रता प्राप्त करने के प्रावधानों, शौच के शिष्टाचार, मिस्वाक एवं प्राकृतिक परंपराओं, वुज़ू की विधि, वुज़ू को तोड़ने वाली चीज़ें, स्नान का तरीक़ा, तयम्मुम और मासिक धर्म के प्रावधानों का उल्लेख किया है, तथा नमाज़ के अध्याय में अज़ान व इक़ामत के प्रावधान, नमाज़ का तरीक़ा, सज्दा सह्व के नियम, नमाज़ को संछिप्त करके और दो नमाज़ों को एक साथ पढ़ने के नियम, जुमा और ईदैन की नमाज़, इस्तिस्क़ा (बारिश मांगने) की नमाज़, ग्रहण की नमाज़, स्वैच्छिक नमाज़ और मुअक्कदह सुन्नतें तथा इस्तिखारा की नमाज़ के प्रावधानों और नियमों का वर्णन किया है।

  • हिन्दी

    PDF

    इस पुस्तक में, प्रमणित हदीसों की रोश में तकबीर कहने से लेकर सलाम फेरने तक नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के नमाज़ पढ़ने का तरीक़ा़ संछिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है।

फ़ीडबैक